pimples hatane ka tarika 100% working treatment

No comments

pimples hatane ka Tarika 100% working treatment


दोस्तों आज हम आपको बताएंगे मुंहासे क्या होते हैं। और मुहांसे किन कारणों से होते हैं और अपने त्वचा की देखभाल
किस तरह से करें और मुहासों का इलाज कैसे करें।


मुंहासे किन कारणों से होते हैं



मुंहासे इसलिए होते हैं आपकी त्वचा में जो ऑयल होते हैं उनका जो रास्ता होता है वह ब्लॉक हो जाता है। और उनके
अंदर का तेल इनफैक्ट हो जाता है इस वजह से आपको मुंहासे हो जाते हैं। यह ज्यादातर चेहरे पर गले पर और कंधों
और पीठ पर जिसे आप कील कहते हैं। वह भी ऑयल जाम होने से होते हैं लेकिन इससे स्किन इनफेक्शन नहीं होता है।

pimples hatane ka tarika 100% working treatment
pimples hatane ka Tarika 100% working treatment



मुंहासों का परिवार में प्रचलन



कम से कम 80% लोगों में 11 से 35 साल के लोगों को मुंहासे होते हैं। यदि अगर आपके माता-पिता को भी मुंहासे हुए
होते हैं। तो आपको भी मुंहासे होते हैं। दूसरा होता है हार्मोन जब हम 3 साल के होते हैं तो हमारे शरीर में हारमोंस की
मात्रा एकदम बढ़ जाती है। इसके होने से हमारी त्वचा में ऑयल होते हैं उस कारण जब वह ब्लॉक हो जाते हैं तो आपको
मुंहासे निकल आते हैं।


हारमोंस का मुहांसों पर क्या असर होता है



मर्दों में मुंहासे निकलने के ज्यादा चांस होते हैं मर्दों में हमेशा एंट्रोजन मेन हारमोंस लेवल हमेशा हाई रहता है। औरतों में
जब उनके पीरियड्स आने वाले होते हैं उस टाइम एंड्रोजन हारमोंस का लेवल ऊपर बढ़ जाता है। और आपने अक्सर
देखा होगा पीरियड्स के पहले औरतों में अक्सर मुंहासे निकलने लगते हैं।


सूर्य की किरणों का मुहांसों पर असर



कई लोगों को धूप से एलर्जी होती है और वो ज्यादा धूप में निकलते हैं तो उनका चेहरा लाल हो जाता है। और उसके बाद
मुंहासे निकलने लगते हैं यदि आपको इस तरह की प्रॉब्लम है। तो आप को डायरेक्टली धूप में जाना बंद कर देना चाहिए।
जब आप धूप में जाए उस टाइम सनस्किन क्रीम का इस्तेमाल करना चाहिए।


मुंहासे और खाने की चीजों की एलर्जी



कई लोगों को खाने पीने की चीजों से भी एलर्जी होती है। जैसे कई लोगों को मछली अंडा खाने से या दूध पीने से या टमाटर
खाने से एलर्जी होने लगती है। और उसके बाद एकदम मुंहासे निकल पड़ते हैं अगर आपको इस तरह की प्रॉब्लम है।
तो आपको जिस चीज से एलर्जी है उसे छोड़ देना चाहिए और उसे खाना बंद कर देना चाहिए।


मुंहासे होने पर क्या करें और क्या ना करें



अगर आपको मुंहासे हो रहे हैं तो दिन में दो बार फेस वॉश जरूर करें गुनगुने पानी से।  साबुन का इस्तेमाल कम से कम
करें अपने चेहरे पर तो आपके लिए अच्छा है। आपको अगर मुंहासे हैं तो बार बार अपना मुंह नहीं धोना चाहिए। उस से
त्वचा इरिटेट हो जाती है और मुहांसे बढ़ सकते हैं। आपको अपने चेहरे पर स्क्रब का इस्तेमाल बिल्कुल भी
नहीं करना चाहिए। वोइली मेकअप का इस्तेमाल कम से कम करना चाहिए और वाटर फेस मेकअप का इस्तेमाल
आप कर सकते हैं अच्छा होता है।


सनस्क्रीन का सही प्रयोग



अगर धुप में जाने से आप की त्वचा को प्रॉब्लम आती है तो आप धुप में जाने से पहले सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें।
सन screen का प्रयोग जिसका spf 15 से 20 हो उसे इस्तेमाल करना चाहिए। ज्यादा spf वाले सनस्क्रीन का प्रयोग
हीं करना चाहिए।


मुहांसों से बचने के और तरीके



अपने बालों को हमेशा साफ रखें और उसने अपने चेहरे पर ना गिरने दे। क्योंकि बालों के अंदर बहुत ज्यादा धुल
मिट्टी और गंदगी जम जाती है। और जब वह बाल हमारे चेहरे पर चलते हैं तो उसे हमारे चेहरे पर इंफेक्शन हो सकता है।
अगर आप अपने कीलों को हाथ लगाते हैं बार बार तो उस में इन्फेक्शन हो के मुंहासे बन जाते हैं।  और अगर आप अपने
मुहांसों को दबाते हैं तो मुहासे दूसरी जगह निकल आते हैं।


खाने पीने का समय



हम जो खाना खाते हैं उसका असर हमारी त्वचा पर डायरेक्टली दिखता है। आपको हमेशा मौसमी फल और सब्जियां
खानी चाहिए अपनी डाइट को 70 परसेंट वेजीटेरियन रखें और 30 परसेंट नॉनवेजिटेरियन रखें। मीट में भी मच्छी खाना
सबसे ज्यादा फायदेमंद है।


खुली हवा और व्यायाम



अगर आपको अपनी त्वचा को हल्दी रखना है और कील मुहांसों को फ्री रखना है। तो आप के लिए एक्सरसाइज बहुत
जरूरी है अगर आप एक्सरसाइज करते हैं। तो आप बाहर खुली हवा में करें इसलिए खुली हवा में करना चाहिए क्योंकि
ऑक्सीजन की मात्रा ज्यादा होती है। ऑक्सीजन हमारी बॉडी के हर चीज के लिए बहुत जरूरी है और वह उनका खाना है।
अच्छी तरह से ऑक्सीजन आप अपने बॉडी में देंगे तो आप की बॉडी हेल्दी रहेगी और हमारी त्वचा भी उसके साथ साथ
हल्दी रहेगी।


benzoyl prroxide cream / gel का इस्तेमाल



आप सोने से पहले अपना मुंह गुनगुने पानी से धो लें फिर उसे सुखा लें। एक मटर के दाने के जैसा जितना
benzoyl prroxide cream / gel क्रीम अपनी उंगलियों में लेकर। जिस जगह आपके मुंहासे हैं उस पर धीरे धीरे लगा
ले तेजी से रगड़ के कोई भी क्रीम या जेल स्किन के अंदर नहीं लगाना चाहिए। जिस जगह पर मुंहासे हैं उसी पर लगाइए
पूरी त्वचा पर लगाने की जरूरत नहीं है। सुबह उठकर फिर आप अपने चेहरे को गुनगुने पानी से धोले और फिर लगा ले।


मुहांसों पर एंटी बायोटीक क्रीम का सही प्रयोग



कभी कभी सिर्फ क्लीनिंग जेल से काम नहीं बनता है। कभी आपको एंटीबायोटिक क्रीम का इस्तेमाल करना पड़ता है एं
टीबायोटिक क्रीम सिर्फ डॉक्टर से ही मिलते हैं। अगर आपको एंटीबायोटिक क्रीम या जेल लेना है तो तो आप डॉक्टर
की सलाह से ले सकते हैं। और आपको एंटीबायोटिक क्रीम चाहिए तो आप clindamycin  या eerythromycin जेल
का इस्तेमाल करें।


मुहांसों के लिए खाने वाली दवाइयों का सही प्रयोग



अगर आपकी प्रॉब्लम जेल या क्रीम से नहीं सॉल्व हो रहा है। तो आपको एंटीबायोटिक  खाने की जरूरत पड़ सकती है
इसके लिए आप अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें। और एंटीबायोटिक खाने का  ट्रीटमेंट शुरू कर देना चाहिए। एक बार
आप एंटीबायोटिक अपने मुहांसों के लिए खाना शुरू करते हैं। तो आप को कम से कम 3 महीने से 4 महीने तक खाना
जरूरी है।


अगर आप का मुहांसों और पिंपल के बारे में कोई भी सवाल हो। तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं और इस
जानकारी को आप अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

No comments :

Post a Comment

दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा खुजली की टेबलेट खुजली की क्रीम

No comments

दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा खुजली की टेबलेट खुजली की क्रीम


नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बताएंगे खुजली का पूरा इलाज यह बहुत छोटी सी होती है। और आंखों से दिखाई नहीं देती है यह हमारी ऊपरी सतह पर सुरंग बनाकर रहती है। और इसके शरीर से जो केमिकल तत्व निकलती है उससे हमारी त्वचा में एलर्जी होती है और फिर खूब खुजली होती है

दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा खुजली की टेबलेट खुजली की क्रीम
दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा खुजली की टेबलेट खुजली की क्रीम

खुजली की बीमारी कैसे होती है


 खुजली एक लगने वाली बीमारी है जो लोग कई दिनों तक नहाते नहीं हैं। अपने कपड़ों की और बिस्तरओं की साफ सफाई नहीं रखते हैं उनको यह बीमारी अक्सर हो जाती है।  जो लोग छोटी सी जगह पर एक साथ रख रहते हैं और साफ सफाई नहीं रखते हैं उनको यह बीमारी बहुत होती है।  जो लोग कई दिनों तक नहाते नहीं है उनको यह बीमारी पूरे शरीर में हो जाती है।


 खुजली के लक्षण


इस बीमारी में सबसे परेशान करने वाली बात है बहुत ज्यादा खुजली होती है। और पूरे शरीर में होती है ज्यादातर रात को सोते समय ज्यादा खुजली होती है कई बार बहुत ज्यादा खुजलाने से त्वचा लाल हो जाती है। और उनमें छोटे छोटे दाने निकल आते हैं बता दें कि खुजली की बीमारी पूरे शरीर में हो जाती है लेकिन आपके सिर में और चेहरे पर नहीं होती है।

खुजली का इलाज


 खुजली की बीमारी का इलाज खुजली की बीमारी तो बहुत परेशान करने वाली है लेकिन इसका इलाज बहुत सरल है इसे ठीक करने के लिए  पर्मेथ्रिन क्रीम 5 परसेंट यूज कर सकते हैं इस क्रीम को रात में सोने से पहले पहलेपूरे शरीर में गले से लेकर पैर के तले तक अच्छे से लगा ले। और सुबह उठकर  गरम पानी और नीम के साबुन से नहा ले  इस तरह से इंफेक्शन ठीक हो जाता है।


लेकिन खुजली को खत्म होने में कुछ समय लग जाता है इसके लिए आप 10 दिन रोजाना सोने से पहले एक गोली लिवो सिट्राजिन टेबलेट खाएंगे तो आपको खुजली परेशान नहीं करेगी और आपको अपने कपड़े और अपना बिस्तर सब कुछ डिटेल पानी और गरम पानी से खूब अच्छी तरह धोना होगा। और कपड़े को प्रेस करना चाहिए घर के सभी लोगों को इलाज एक साथ करना चाहिए।  6 महीने से कम बच्चे को यह क्रीम ना लगाएं लेकिन 6 महीने के ऊपर वाले बच्चों को यह क्रीम लगा सकते हैं। इस क्रीम को चेहरे और सिर पर नहीं लगाना चाहिए और अपनी आंखों को इस से बचाना चाहिए।

No comments :

Post a Comment