Tuesday, December 25, 2018

दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा खुजली की टेबलेट खुजली की क्रीम

दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा खुजली की टेबलेट खुजली की क्रीम


नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बताएंगे खुजली का पूरा इलाज यह बहुत छोटी सी होती है। और आंखों से दिखाई नहीं देती है यह हमारी ऊपरी सतह पर सुरंग बनाकर रहती है। और इसके शरीर से जो केमिकल तत्व निकलती है उससे हमारी त्वचा में एलर्जी होती है और फिर खूब खुजली होती है

दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा खुजली की टेबलेट खुजली की क्रीम
दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा खुजली की टेबलेट खुजली की क्रीम

खुजली की बीमारी कैसे होती है


 खुजली एक लगने वाली बीमारी है जो लोग कई दिनों तक नहाते नहीं हैं। अपने कपड़ों की और बिस्तरओं की साफ सफाई नहीं रखते हैं उनको यह बीमारी अक्सर हो जाती है।  जो लोग छोटी सी जगह पर एक साथ रख रहते हैं और साफ सफाई नहीं रखते हैं उनको यह बीमारी बहुत होती है।  जो लोग कई दिनों तक नहाते नहीं है उनको यह बीमारी पूरे शरीर में हो जाती है।


 खुजली के लक्षण


इस बीमारी में सबसे परेशान करने वाली बात है बहुत ज्यादा खुजली होती है। और पूरे शरीर में होती है ज्यादातर रात को सोते समय ज्यादा खुजली होती है कई बार बहुत ज्यादा खुजलाने से त्वचा लाल हो जाती है। और उनमें छोटे छोटे दाने निकल आते हैं बता दें कि खुजली की बीमारी पूरे शरीर में हो जाती है लेकिन आपके सिर में और चेहरे पर नहीं होती है।

खुजली का इलाज


 खुजली की बीमारी का इलाज खुजली की बीमारी तो बहुत परेशान करने वाली है लेकिन इसका इलाज बहुत सरल है इसे ठीक करने के लिए  पर्मेथ्रिन क्रीम 5 परसेंट यूज कर सकते हैं इस क्रीम को रात में सोने से पहले पहलेपूरे शरीर में गले से लेकर पैर के तले तक अच्छे से लगा ले। और सुबह उठकर  गरम पानी और नीम के साबुन से नहा ले  इस तरह से इंफेक्शन ठीक हो जाता है।


लेकिन खुजली को खत्म होने में कुछ समय लग जाता है इसके लिए आप 10 दिन रोजाना सोने से पहले एक गोली लिवो सिट्राजिन टेबलेट खाएंगे तो आपको खुजली परेशान नहीं करेगी और आपको अपने कपड़े और अपना बिस्तर सब कुछ डिटेल पानी और गरम पानी से खूब अच्छी तरह धोना होगा। और कपड़े को प्रेस करना चाहिए घर के सभी लोगों को इलाज एक साथ करना चाहिए।  6 महीने से कम बच्चे को यह क्रीम ना लगाएं लेकिन 6 महीने के ऊपर वाले बच्चों को यह क्रीम लगा सकते हैं। इस क्रीम को चेहरे और सिर पर नहीं लगाना चाहिए और अपनी आंखों को इस से बचाना चाहिए।

0 Comments: